#RamgarhNews : दिनभर की ख़बरें (17 नवम्बर 2020) - Rashtra Samarpan News and Views Portal

Breaking News

Home Top Ad


 Advertise With Us

Post Top Ad


Subscribe Us

Tuesday, November 17, 2020

#RamgarhNews : दिनभर की ख़बरें (17 नवम्बर 2020)

 


मुख्य खबरे

रामगढ़ खबर

  • सरकार का रवैया दिन पर दिन हिंदू विरोधी होते जा रहे हैं: हिंदू समाज पार्टी
  • आगामी छठ पूजा के आयोजन के संबंध में अनुमंडल पदाधिकारी ने की विभिन्न छठ पूजा समितियों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक
  • पुरानी पेंशन बहाली राष्ट्रीय आंदोलन के प्रांतीय प्रवक्ता बने डॉ सुनील कश्यप
  • छठ पूजा का जारीआदेश के खिलाफ मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन का किया गया पुतला दहन
  • समाज के लिए निश्वार्थ काम करने वाले सैकड़ो युवाओं ने ली सदस्यता
  • छठ पूजा के आयोजन के संबंध में प्रचार वाहन के माध्यम से लोगों को दी गयी दिशा निर्देशों की जानकारी
  • टी एच आर के माध्यम से गर्भवती महिलाओं/ धात्री माताओं एवं कुपोषित बच्चों को उपलब्ध कराया जा रहा है राशन
  • हिंदू विरोधी है हेमंत सरकार : रंजन फौजी

चितरपुर खबर

  • तालाब में छठ मनाने पर रोक के खिलाफ सिरु बुध बाज़ार में प्रदर्शन

बरकाकाना खबर

  • छठ महापर्व के गाइडलाइंस को लेकर लोगो ने किया खुलकर विरोध

गोला खबर

  • गोला पुलिस ने छापामारी कर नष्ट किया अवैध जावा महुआ
  • महिला ने फांसी लगाकर की आत्महत्या                  

खबरे विस्तार से  

सरकार का रवैया दिन पर दिन हिंदू विरोधी होते जा रहे हैं: हिंदू समाज पार्टी

रामगढ।  हिंदू समाज पार्टी  छात्र संघ  इकाई  झारखंड प्रदेश अध्यक्ष  जितेंद्र मिश्रा ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर सरकार के रवैया पर सवाल उठाते हुए कहा कि सरकार का रवैया दिन पर दिन हिंदू विरोधी होते जा रहे हैं और सरकार  हिंदुओं के त्यौहार पर बार बार बेबुनियाद गाइडलाइन जारी कर अल्पसंख्यक समुदाय को खुश करने और हिंदुओं के आस्था पर चोट पहुंचाने का यह सरकार की तरफ से बहुत बड़ा षड्यंत्र चल रहा है और ये षड्यंत्र से हिंदू भुक्तभोगी का शिकार होते जा रहे हैं सरकार जल्द से जल्द अपनी रवैया बदले और लोकआस्था के महापर्व छठ व्रत पर झारखंड में भी तालाबों में अर्घ्य देने की अनुमति के यह त्योहार लाखों लोगों की आस्था व संकल्प का प्रतीक है। झारखंड सरकार को केवल हिन्दुओं के पर्व त्योहार पर हीं कोरोना संक्रमण का खतरा नजर आता है, बांकी कहीं भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं हो रहा है सरकार ने हीं बसों पर भी क्षमता के अनुसार यात्री बैठाने का अनुमति दिया है ऐसे में सोशल डिस्टेंसिंग का बात कहां से उठता है। बाजार में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन सरकार और प्रशासन नहीं करवा पा रही है सड़कों पर उसी तरह भीड़ है बस और ऑटो में भर-भर कर यात्री जा रहे हैं कहां-कहां नियम का पालन हो रहा है। यहाँ तक कि सरकार के स्वास्थ मंत्री के द्वारा एवं अन्य मंत्री विधायक के द्वारा भी आए दिन सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाई जाती है स्वयं मुख्यमंत्री के द्वारा भी दुमका एवं बोरमो उपचुनाव के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं किया गया था। और तो और अल्पसंख्यक मंत्री मो. हाजी हुसैन के इंतकाल के समय जनाजा ले जाने के वक्त हजारों हजार की संख्या में भीड़ थी क्या उस समय झारखण्ड सरकार के द्वारा कोविड-19 के तहत गाइडलाइन जारी क्यों नहीं किया गया। कोरोना संक्रमण को देखते हूए सभी को नियमों का पालन करना एवं सावधान रहने की आवश्यकता है, परन्तु कोरोना का डर दिखाकर  हिन्दुओं के महा आस्था के प्रतीक छठ महापर्व पर बंदिश लगाना न्यायसंगत नहीं है। इसलिये मुख्यमंत्री से आग्रह है कि छठ पूजा पर सरकार द्वारा लगाए गए बंदिश को वापस लें, एवं सावधनी के साथ स्वतंत्र रूप से छठ पर्व मनाने की अनुमति दें।

==================================

आगामी छठ पूजा के आयोजन के संबंध में अनुमंडल पदाधिकारी ने की विभिन्न छठ पूजा समितियों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक

रामगढ़। सोमवार को अनुमंडल पदाधिकारी सुश्री कीर्ति श्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जुड़कर अनुमंडल कार्यालय रामगढ़ के सभागार में अंचल अधिकारी रामगढ़ भोला शंकर महतो एवं जिले के विभिन्न छठ पूजा समितियों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक की। इस दौरान उन्होंने सभी प्रतिनिधियों को बताया कि कोरोना को ध्यान में रखते हुए झारखंड सरकार द्वारा आगामी छठ पूजा के आयोजन के लिए विशेष दिशा निर्देश जारी किए गए हैं। झारखण्ड सरकार द्वारा छठ पूजा मनाने से  संबंधित दिशा निर्देश एवं गाईडलाईन प्राप्त है। सार्वजनिक नदियों,तालाबों, जलाशय एवं अन्य किसी भी जल निकाय पर छठ पूजा मनाना प्रतिबंधित किया गया है।

==================================

पुरानी पेंशन बहाली राष्ट्रीय आंदोलन के प्रांतीय प्रवक्ता बने डॉ सुनील कश्यप

रामगढ़। 2 वर्ष पहले झारखंड के रांची जिला स्कूल में 10 लोगों ने पुरानी पेंशन बहाली को लेकर आंदोलन की शुरुआत किया गया। जिस आंदोलन से अब लगभग देश के 700000 कर्मचारी विभिन्न विभागों के सदस्य बन चुके हैं। इसी आंदोलन से जुड़े रामगढ़ के डॉ सुनील कुमार कश्यप, श्याम किशोर महतो, जतरु महतो ने मिलकर रामगढ़ जिले को संगठित करने का और संगठन बनाने का बीड़ा उठाया। उस समय डॉ सुनील कुमार कश्यप को जिला संयोजक की जिम्मेवारी सौंपी गई थी। डॉ कश्यप ने पूरे मनोयोग से जिला संयोजक का भूमिका निभाते हुए पूरे जिले के कर्मचारियों को जोड़ने का काम किया। उसमें शिक्षा विभाग, बिजली विभाग, पथ निर्माण विभाग, पुलिस विभाग, विद्युत विभाग पथ  आदि जैसे 32 संगठनों को एक संगठन में जोड़ने का काम किया। इसके बाद डॉ कश्यप को संगठन सचिव की जिम्मेवारी संगठन ने सौंपा। इसको भी डॉ कश्यप ने बखूबी निभाने का काम किया और सभी के कर्मचारियों को एक सूत्र में बांधने का काम किया और संगठन के लिए हमेशा आवाज उठाते रहे जिसके कारण आज संगठन काफी मजबूत हुआ है डॉ सुनील कुमार कश्यप के कार्यशैली को देखते हुए पुरानी पेंशन बहाली राष्ट्रीय आंदोलन का केंद्रीय नेतृत्व ने प्रदेश मुख्य प्रवक्ता की जिम्मेवारी सौंपी है। डॉ कश्यप ने कहा कि जो जिम्मेवारी हमें सौंपी गई है पूरे निष्ठा पूर्वक इमानदारी पूर्वक करूंगा और खरे उतरने का काम करूंगा। डॉ कश्यप के प्रदेश के मुख्य प्रवक्ता बनाए जाने पर राष्ट्रीय अध्यक्ष विजय कुमार बंधु, राष्ट्रीय महासचिव के अलावे झारखंड के प्रदेश अध्यक्ष विक्रांत कुमार सिंह, प्रदेश कोषाध्यक्ष नितिन कुमार, प्रदेश महासचिव प्रदीप मंडल, मुख्य सचेतक रविंद्र कुमार, लोकेश कुमार लाल, बिहारी यादव  कई जिलों के संगठन सचिव ने भी डॉ कश्यप को बधाई दी ।

==================================

छठ पूजा का जारीआदेश के खिलाफ मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन का किया गया पुतला दहन

रामगढ़। राज्य के हेमंत सरकार के द्वारा छठ महापर्व को लेकर जारी गाइडलाइंस का विरोध राज्य के हिंदू समाज  सहित अनेक राजनीतिक पार्टियों के द्वारा किया जा रहा है । इसी क्रम में  मंगलवार को शहर के सुभाष चौक पर आजसू पार्टी के द्वारा छठ पूजा गाइडलाइंस के विरोध में हेमंत सोरेन सरकार की पुतला दहन किया गया। इस मौके पर  आजसू नगर अध्यक्ष धर्मेंद्र साव भोपाली ने बताया कि राज्य के हेमंत सरकार एकदम तानाशाह की रवैया में आ गई है जो अपने हिंदू विरोधी फैसलों को लेकर चर्चा में रहती है। उन्होंने बताया कि पिछले दुर्गा पूजा पर भी गलत आदेश देकर अपनी फजीहत करा चुकी अब छठ महापर्व पर भी हिंदू विरोधी आदेश देकर अपनी फजीहत करा रही है सरकार। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन सरकार को मुंहतोड़ जवाब देने को लेकर आज हम सभी लोग मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन सरकार का पुतला दहन किया गया। अगर हेमंत सरकार इस हिंदू विरोधी आदेश को वापस नहीं लेगी तो और उग्र आंदोलन किया जाएगा। इस मौके पर नगर अध्यक्ष धर्मेंद्र साव(भोपाली) , नीरज मंडल ,ओबीसी मोर्चा  कार्यकारी जिला अध्यक्ष  दीपक साव,नगर उपाध्यक्ष लालू शर्मा,प्रभात अग्रवाल,संजीव रावत,टेनी सिंह जितेंद्र साव,संदीप महतो,आकाश कुमार,नत्था कुमार,बडू सूडीक,बॉबी वर्मा, आदि लोग उपस्थित थे।

==================================

समाज के लिए निश्वार्थ काम करने वाले सैकड़ो युवाओं ने ली सदस्यता

रामगढ़। रामगढ़ बचाओ संघर्ष समिति के सदस्यता अभियान को लेकर मंगलवार को देर रात्रि रामगढ़ जिला के नगर परिषद क्षेत्र स्थित अरगड्डा में बैठक हुई।बैठक की अध्यक्षता सिक्की पासवान व संचालन अभय कुमार ने किया। कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि रामगढ़ बचाओ संघर्ष समिति के केंद्रीय अध्यक्ष  धनंजय कुमार पुटूस उपस्थित हुए। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए श्री पुटूस ने कहा, आज समाज को अच्छे और निश्वार्थ रूप से कार्य करने वाले लोगो की जरूरत हैं। इसी उद्देश्य के साथ रामगढ़ बचाओ संघर्ष समिति जो की एक गैर राजनीतिक सामाजिक संस्था है वो सदस्यता अभियान के माध्यम से समाज के लिए निस्वार्थ भाव से काम करने वालो को संगठन से जोड़ने का काम कर रही है। अरगड्डा में आयोजित इस कार्यक्रम में युवाओं का उत्साह देख कर ऐसा प्रतीत हो रहा है कि आने वाले समय मे हज़ारों की संख्या में युवा और महिला यहां से संगठन से जुड़ेंगे और रामगढ़ की बेहतरी के लिए काम करेंगे।

==================================

छठ पूजा के आयोजन के संबंध में प्रचार वाहन के माध्यम से लोगों को दी गयी दिशा निर्देशों की जानकारी

रामगढ़। मंगलवार को रामगढ़ नगर परिषद क्षेत्रों में प्रचार वाहन के माध्यम से लोगों को आगामी छठ पूजा के अवसर पर जारी दिशा निर्देशों के प्रति जानकारी दी गई। प्रचार वाहन पर लगे लाउडस्पीकर के माध्यम से सभी लोगों को बताया गया कि चूंकि नदी, तालाब, झील, बांध, डैम, जलाशय, किसी अन्य जल निकाय में छठ पूजा करते समय 2 गज की दूरी बनाए रखने संबंधित सोशल डिस्टेंसिंग के राष्ट्रीय निर्देश का अनुपालन सुनिश्चित कराना संभव नहीं है। इसलिए इन सभी स्थलों पर छठ मनाने की की अनुमति नहीं है। किसी भी सार्वजनिक नदी, तालाब, झील, बांध, डैम, जलाशय एवं अन्य जल निकाय के तट पर या उसके आसपास किसी भी प्रकार का कोई स्टॉल नहीं लगाया जाना है। छठ पूजा के उद्देश्य से व्यक्तियों द्वारा छठ घाटों की मार्किंग, बैरीगेटिंग,  विशेष प्रकाश की व्यवस्था भी निषेध है। सार्वजनिक स्थानों पर किसी भी प्रकार के पटाखे फोड़ने की अनुमति नहीं है। किसी प्रकार के संगीत मनोरंजन एवं अन्य सांस्कृतिक कार्यक्रम का भी आयोजन नहीं किया जाना है।

==================================

टी एच आर के माध्यम से गर्भवती महिलाओं/ धात्री माताओं एवं कुपोषित बच्चों को उपलब्ध कराया जा रहा है राशन

रामगढ़। मंगलवार को रामगढ़ जिला अंतर्गत चितरपुर प्रखंड के विभिन्न आंगनबाड़ी केंद्रों की सेविका एवं सहायिकाओं के द्वारा टी एच आर के अंतर्गत  लोगों के घर घर जाकर राशन का वितरण किया गया। टेक होम राशन  के तहत जिले की गर्भवती महिलाओं/ धात्री माताओं एवं कुपोषित बच्चों को आंगनवाड़ी सेविकाओं/सहायिकाओं को उनके घरों तक जा-जा कर राशन उपलब्ध कराया जा रहा है। इस दौरान प्रत्येक लाभुक को 2.5 किलो चावल और 750 ग्राम दाल उपलब्ध कराया जा रहा है।

==================================

हिंदू विरोधी है हेमंत सरकार : रंजन फौजी

रामगढ़। सैनिक प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक रंजन फौजी ने मंगलवार को प्रेस विज्ञापित कर कहा की छठ पूजा पर प्रतिबंध लगाकर मौजूदा मुख्यमंत्री मुगल काल की याद दिला रहे हैं जिसमें हिंदुओं को अपनी पूजा पद्धति को मानने के लिए जजिया कर चुकाना पड़ता था। छठ पूजा जैसे महापर्व पर अनुचित बदलाव कर नया पैमाना बनाने से यहां की जनता में बहुत रोष व्याप्त है । लोक आस्था के महापर्व छठ हिंदुओं में सबसे बड़ा पर्व माना जाता है। और इसलिए इसे छठ महापर्व भी बोला जाता है । पूजा के ठीक पहले इसके स्थान जहां इसे मनाया जाता है उस पर प्रतिबंध लगाना कहीं से भी जायज नहीं है जनता ने अपने समर्थन देकर आप को मुख्यमंत्री बनाया पर अब  मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन तानाशाह की तरह रवैया कर रहे हैं ऐसा तो शायद पाकिस्तान में भी नहीं होता होगा। रंजन फौजी ने यह भी कहा कि जब कोरोना महामारी के संक्रमण काल में चुनाव प्रचार के दौरान भीड़ पर कहीं कोई रोक ना लगी तो फिर त्यौहार में इसे रोकना कहां तक जायज है, जबकि चुनावी रैलियों में सिर्फ एक छोटे से स्थान पर हजारों की संख्या में लोग उपस्थित रहते हैं। रंजन फौजी ने यह मांग की कि सरकार जल्द से जल्द इस मामले पर पुनर्विचार करें और इसे वापस ले अन्यथा यह इस मौजूदा झारखंड सरकार के ताबूत में आखिरी कील होगा और सारे झारखंड वासी सड़कों पर उतरेंगे और एक बड़ा जन आंदोलन होगा।

==================================

तालाब में छठ मनाने पर रोक के खिलाफ सिरु बुध बाज़ार में प्रदर्शन

चितरपुर। झारखंड सरकार की ओर से तालाब, जलाशय व नदी में छठ पूजा ना कर घरों में छठ करने के आदेश का विरोध आजसू छात्र संघ व प्रखंड कमिटी के लोगों ने मंगलवार को सिरु बुध बाज़ार आजसू प्रधान कार्यालय में किया।सरकार के खिलाफ हाथ में स्लोगन लिखी तख्तियां लेकर आक्रोश व्यक्त करते हुए विरोध किया गया। कार्यक्रम का नेतृत्व कर रहे विभावि सचिव अनिल इगनेश ने कहा कि देश के विभिन्न क्षेत्रों में चुनाव व उपचुनाव हुए। बिहार में भी चुनाव हुआ। झारखंड में भी दो सीटों पर उपचुनाव हुआ। नेताओं ने लाखों की भीड़ जुटा कर रैलियां की। उस समय कोरोना का संक्रमण नहीं हुआ। आस्था के महापर्व छठ को परंपरा के अनुसार मनाने पर सरकार ने रोक लगाई है। यह तुगलकी फरमान है। सरकार इस पर पुनर्विचार करें। निर्णय को वापस लें। उन्होंने कहा कि हम लोग अपना पर्व उसी तरह मनाएंगे जैसा वर्षों से मनाते आएं हैं। महिलाओं ने कहा कि कोरोना का भय दिखाकर चैत माह में भी हमें छठ पर्व करने नहीं दिया गया। अब कार्तिक माह के छठ को भी सरकार परंपरागत तरीके से नहीं मनाने दे रही है। सरकार का निर्णय जन विरोधी है।मौके पर देवराज कुमार,चिरिंजीवी कुमार, अभिनाश कुमार,आकाश , दीपक कुमार,राहुल कुमार,पंचम कुमार, राकेश कुमार, योगेश कुमार, आकाश कुमार, कुमार आदि कई छात्र संघ के सदस्य गण व प्रखंड कमिटी के लोग मौजूद थे।

छठ महापर्व के गाइडलाइंस को लेकर लोगो ने किया खुलकर विरोध

बरकाकाना। छठ महापर्व में कुछ  ही दिन शेष रह गए हैं और झारखंड सरकार के गाइडलाइंस को लेकर लोगो मे असमंजस की स्थिति बनी हुई है,वही छठव्रतियों का मन कुंठित है कि पिछले कई दशकों से छठ पर्व का अर्घ देने नदी व तालाबो में जाया करते थे लेकिन इस बार के स्थिति से लोग पशोपेश में है कि क्या करे।जहाँ छठव्रतियों को झारखंड सरकार से आस है कि नियमो में बदलाव करे तो दूसरी ओर सामाजिक कार्यकर्ता एवं वरिष्ठ नेताओं ने पुरजोर तरीके से बिरोध किया है।कांग्रेस प्रखंड कमिटी के वरिष्ठ नेता संभुनाथ सिंह ने सरकार के नियमों में बदलाव करने की मांग की है तो दूसरी तरफ महाकाल सेना के वरिष्ठ कार्यकर्ता राजू सिंह ने झारखंड सरकार से जल्द से जल्द गाइडलाइन में बदलाव करने की मांग की है नहीं तो उग्र प्रदर्शन करने की बात कही है।

==================================

गोला पुलिस ने छापामारी कर नष्ट किया अवैध जावा महुआ

गोला। रामगढ़ एसपी के निर्देश पर अवैध महुआ शराब के खिलाफ लगातार छापामारी की जा रही है। इसी क्रम में थाना क्षेत्र के कमता बरवाटांड नदीतट स्थित अवैध देशी महुआ शराब की भट्ठियों पर छापामारी किया गया। जहां 400 किलो जावा महुआ व  जब्त कर नष्ट कर दिया गया। पुलिस के इस कार्रवाई से शराब माफियाओं में हड़कंप है। इस दौरान बताया गया कि किसी भी हाल में अवैध कारोबार को चलने नही दिया जाएगा। अवैध कारोबार से सरकार को लाखों रूपये राजस्व में चुना लगाया जा रहा है। वहीं कारोबारी दिन दूनी रात चैगुनी की तर्ज पर काफी फल फूल रहे हैं। इधर पुलिस के लगातार छापामारी से अवैध शराब कारोबारियों में हड़कंच मचा हुआ है।

==================================

महिला ने फांसी लगाकर की आत्महत्या                  

गोला। थाना क्षेत्र के बेटूलखुर्द गांव में मंगलवार को दोपहर को एक 20 वर्षीय महिला ने फांसी लगाकर की आत्महत्या कर ली। बताया जाता है कि  मृतक महिला अनवर अंसारी की छोटी बहू ने पारिवारिक विवाद के कारण फांसी के फंदे से अपनी जान दे दी। मृतक महिला का विवाह  लॉकडाउन के समय मे ही हुआ था। सूचना मिलते ही  गोला पुलिस घटना  स्थल पर पहुंच मामले की तहकीकात में जुट गई है।

 

 

No comments:

Post a Comment

Like Us

Ads

Post Bottom Ad


 Advertise With Us