साधुओं की निर्मम हत्या पर तथाकथित बुद्धिजीवी और अवार्ड वापसी गैंग मौन क्यों : रमेश शिंदे - Rashtra Samarpan News and Views Portal

Breaking News

Home Top Ad


 Advertise With Us

Post Top Ad


Subscribe Us

Sunday, May 24, 2020

साधुओं की निर्मम हत्या पर तथाकथित बुद्धिजीवी और अवार्ड वापसी गैंग मौन क्यों : रमेश शिंदे



रिपोर्ट : रितेश कश्यप 

महाराष्ट्र में संतों को लगातार निशाना बनाया जा रहा है पालघर में 2 साधुओं की हत्या का मामला अभी पूरी तरह शांत नहीं हुआ था कि अब नांदेड़ में शनिवार की रात एक साधु की हत्या कर दी गई । उमरी तालुका के नाग ठाना क्षेत्र जो नांदेड़ जिले के अंतर्गत आता है, शनिवार की रात  लिंगायत समाज के साधु की हत्या बड़े ही निर्मम तरीके से गला रेत कर कर दी गई ।
 मृतक साधु का नाम रूद्र पशुपति महाराज बताया जा रहा है जानकारी के मुताबिक रूद्र पशुपति महाराज के साथ बदमाशों ने उनके एक और सहयोगी की भी हत्या कर दी है दूसरे मृतक का नाम भगवान राम शिंदे बताया गया है।

इस घटना के बाद हिंदू जनजागृति समिति के राष्ट्रीय प्रवक्ता रमेश शिंदे  प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए कहा की साधु संतों की भूमि महाराष्ट्र में अब साधुओं के रक्त की नदियां बही जा रही है कुछ दिन पूर्व पालघर में दो साधुओं की हत्या का सूतक पूर्ण नहीं हुआ था तब तक उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में एक और साधु की हत्या हो गई उसके तुरंत पश्चात पंजाब के होशियारपुर में एक साधु पर प्राणघातक हमला किया गया। इस घटना के बाद अब नांदेड़ में संत पद पशुपति शिवाचार्य महाराज तथा उनके एक सेवक की निर्मम हत्या कर दी गई यह कोई सोची समझी साजिश नहीं तो और क्या है?
उन्होंने आगे कहा कि ऐसा सिर्फ महाराष्ट्र में ही नहीं अपितु पूरे हिंदुस्तान में योजनाबद्ध तरीके से साधुओं की हत्या की जा रही है वहीं प्रशासन इन साधुओं की हत्याओं को रोकने में पूरी तरह से असफल दिखाई दे रहा है।

उन्होंने सरकार से कहा कि इन हत्याओं को रोकने के लिए सरकार को कठोर नियम बनाने की जरूरत है हिंदू जनजागृति समिति के प्रवक्ता रमेश शिंदे ने यह भी कहा कि किसी भी कारणवश हिंदुओं को छोड़ अन्य समुदाय से संबंधित मामला होता तो अभी तक सभी प्रकार के वामपंथी एवं तथाकथित बुद्धिजीवी सहित अवार्ड वापसी गैंग आदि अपना सिर पीट रहे होते वहीं हिंदू साधुओं की हत्या पर वे सभी मौन धारण किए हुए हैं।  हिंदू साधुओं की हत्या के बाद कहीं से भी ऐड अवार्ड वापसी की कोई खबर नहीं आ रही और ना ही किसी को भारत में रहने से भय लग रहा है।

उन्होंने इस घटना पर निंदा व्यक्त करते हुए सभी हिंदू समाज को वैधानिक पद्धति से आवाज उठाने की बात कही।

Video News 



No comments:

Post a Comment

Like Us

Ads

Post Bottom Ad


 Advertise With Us