असमाजिक तत्वों ने पोना धाम मन्दिर के गुम्बज और त्रिशूल को किया क्षतिग्रस्त, ग्रामीणों में आक्रोश - Rashtra Samarpan News and Views Portal

Breaking News

Home Top Ad


 Advertise With Us

Post Top Ad


Subscribe Us

Tuesday, May 26, 2020

असमाजिक तत्वों ने पोना धाम मन्दिर के गुम्बज और त्रिशूल को किया क्षतिग्रस्त, ग्रामीणों में आक्रोश




रामगढ़ :रजरप्पा थाना अंतर्गत बड़कीपोना गाँव के पोना पर्वत पर स्थित श्री जगन्नाथ भगवान के मंदिर पर असमाजिक लोगों के द्वारा सोमवार की रात पथराव कर गुम्बज और वहां स्थापित त्रिशूल को क्षतिग्रस्त कर दिया गया। इस घटना की जानकारी मिलने के बाद सैकड़ों लोग जमा हो गए और विरोध करने लगे। ग्रामीणों ने इस घटना की सूचना रजरप्पा पुलिस को दी। मामला अनियंत्रित होता देख आनन फानन में पुलिस पदाधिकारियों द्वारा इस मामले की खोजबीन की जाने लगी । ग्रामीणों ने पुलिस पर जल्द से जल्द दोषियों को पकड़ने की बात कही। पुलिस ने दो आरोपियों को पकड कर पूछताछ हेतु थाने लायी है । घटना की सुचना मिलते ही पुलिस अधीक्षक घटना स्थल पर पहुच कर स्थिति का जायजा लिया और दोषियों को जल्द ही हिरासत में लेने की बात कही। पुलिस अधीक्षक प्रभात कुमार ने रजरप्पा थाना प्रभारी को अविलम्ब कार्यवाई का निर्देश दिया।

आखिर मंदिर ने किसी का क्या बिगाड़ा : पुजारी 

जिस रात को मंदिर क्षतिग्रस्त ग्रस्त किया गया उसी दिन मंदिर के देखभाल करने वाले योगेन्द्र कुमार और रविन्द्र कुमार के साथ युवकों द्वारा मारपीट किया गया था जिसे स्थानीय जनप्रतिनिधि द्वारा बाद में सुलटा लिया गया। अगले दिन जब वे लोग रोज की तरह पूजा करने मंदिर गए तो मंदिर के गुम्बज और त्रिशूल को क्षतिग्रस्त देखा गया ।
मंदिर के पूजारी रामशरण गिरी ने इस घटना की निंदा करते हुए कहा की पुलिस को अविलम्ब दोषियों को पकड़ कर कार्यवाई करनी चाहिए । आगे उन्होंने कहा की आखिर मंदिर ने किसी का क्या बिगाड़ा है इस तरह की घटना से समाज को क्या सन्देश जायेगा?

2 लोग पुलिस की हिरासत में , पूछताछ जारी 

थाना प्रभारी से बात करने पर उन्होंने कहा की अभी 2 लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ किया जा रहा और जल्द ही हम दोषियों को सलाखों के पीछे पंहुचा देंगे। 
 इस घटना के बाद आसपास के इलाके में तनाव का माहौल व्याप्त है। वहां के स्थानीय लोगों ने कहा कि यह बहुत ही शर्मनाक घटना है।  प्रशासन जल्द से जल्द आरोपी को गिरफ्तार करें अन्यथा उग्र आंदोलन होगा। वहां मौजूद कुछ लोगों ने  कहा कि कुछ वर्ष पूर्व इसी इलाके में इस तरह की घटना  पहले भी घट चुकी मगर उसमें भी  अब तक कोई कार्यवाही नहीं की गई। 

हिन्दू राष्ट्र सेना ने दिया आवेदन , सख्त कार्यवाई की मांग 

इस घटना की सुचना मिलते ही हिंदू राष्ट्र सेना एवं कई समाजसेवियों द्वारा अपनी कड़ी प्रतिक्रिया दी और इस घटना की निंदा करते हुए थाने में लिखित आवेदन देकर रजरप्पा थाना प्रभारी से दोषियों पर कड़ी से कड़ी कानूनी कार्रवाई करने की मांग की। आवेदन देने के लिए पहुचे लोगों में रमेश कुमार दांगी जिला उपाध्यक्ष आजसू पार्टी  रामगढ़,  आचार्य श्री राम सरण गिरी,  अमृत कुमार, मदन पासवान, उमेश कश्यप, मुकेश प्रसाद, उमेश कुमार, विजय कुमार, सरजू कुमार, दिनेश कुमार, रिंकू कुमार, सोमवार कुमार, सतीश कुमार इन्होंने कड़े शब्दों में घटना की आलोचना करते हुए, आरोपियों को अविलंब गिरफ्तार कर कड़ी कार्रवाई की मांग की





आसपास के सैकड़ों लोगों की आस्था जुडी है इस मंदिर से 

आपको बताते चलें कि हर साल यहां पर रथ पूजा का आयोजन बड़े ही भव्य तरीके से किया जाता है जिसमें आसपास के सैकड़ों ग्रामीण जोड़ते हैं और इस मंदिर में पूजा अर्चना करते हैं। यह मंदिर एक ऊँचे पर्वत पर स्थित है जहाँ आने का कारण सिर्फ पूजा पाठ करना ही होता है। इतने ऊंचे पर्वत पर असामाजिक तत्वों द्वारा मंदिर के गुंबज और त्रिशूल को तोड़ना अपने आप में उनकी मानसिकता बयान कर रहा है। जहां आज पूरा समाज एकता और अखंडता की बात कर रहा है उस जगह पर ऐसे असामाजिक तत्वों द्वारा लोगों के बीच मतभेद फैलाने का कुत्सित प्रयास किया जा रहा। अब देखना यह है कि रामगढ़ का प्रशासन इस घटना को कितनी तत्परता से लेता है और इस घटना पर कब तक दोषियों पर कार्रवाई होती है?  हालांकि ग्रामीणों का कहना है कि वहां से कुछ दूरी पर एक और मंदिर है जहां कुछ वर्ष पहले इस तरह की ही घटना घट चुकी थी उसके बाद अब तक उन दोषियों  पर अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई

No comments:

Post a Comment

Like Us

Ads

Post Bottom Ad


 Advertise With Us