मौत की घाटी चुटुपालु में भीषण दुर्घटना , आखिर किसकी लापरवाही से हुई 2 की मौत - Rashtra Samarpan News and Views Portal

Breaking News

Home Top Ad


 Advertise With Us

Post Top Ad


Subscribe Us

Friday, May 15, 2020

मौत की घाटी चुटुपालु में भीषण दुर्घटना , आखिर किसकी लापरवाही से हुई 2 की मौत


--रितेश कश्यप
चुटुपालु घाटी जिसे मौत की घाटी के नाम से जाना जा रहा है वहाँ  दुर्घटनाओं और मौत का सिलसिला बदस्तूर जारी है । उसी घाटी ने शुक्रवार को फिर 2 लोगों को अपनी जान से हाँथ धोना पड़ा।
 शुक्रवार को सुबह के लगभग 4 बजे जमशेदपुर से राजस्थान जा रही ट्रेलर RJ32GC3232 ने हाईवे पर पहले से खराब पड़ी ट्रक CG7CA0287 को इतना जोरदार धक्का मारा की ट्रेलर पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई और साथ ही उस ट्रेलर के चालक विष्णु कुमार नागर जो झालावाड़ राजस्थान के रहने वाले थे और खलासी ईश्वर दास स्वामी जो दौसा राजस्थान के रहने वाले थे, घटनास्थल पर ही उन दोनों की मौत हो गई।

दुर्घटना होने के बाद वहां मौजूद कुछ लोगों ने रामगढ़ थाना को सूचना दी । रामगढ़ थाना पुलिस ने घटनास्थल पर पहुंचकर दुर्घटनाग्रस्त वाहन से ड्राइवर खलासी को निकालकर सदर अस्पताल रामगढ़ भेज दिया गया, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया।  रामगढ़ थाना पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और उन दोनों मृतकों के परिवार वालों को खबर दे दी गई।


आखिर कब तक चलता रहेगा ऐसा?

 ऐसा कोई भी दिन नहीं है जब मौत की घाटी चुटूपालु में कोई भी घटना ना घटे। घटना छोटी हो या बड़ी, मौत की सूचना मिले या घायल होने की मगर सूचना प्रतिदिन मिल ही जाती है। जिस प्रकार प्रतिदिन अखबार आपके घरों में आता है ठीक उसी प्रकार मौत की घाटी से दुर्घटनाओं की सूचना प्रतिदिन आ जाती है। उक्त दुर्घटना में हाईवे अथॉरिटी की लापरवाही साफ देखी जा सकती है क्योंकि पिछले 2 दिनों से एलपी ट्रक खराब पड़ी हुई थी लेकिन उसे उसे रोड के किनारे नहीं किया गया। लोगों का कहना है कि जब भी इस तरह की कोई दुर्घटना होती है तो प्रशासन  मृतकों और घायलों को अस्पताल पहुंचाने तक की जिम्मेदारी निभाती है मगर वहां पड़े गाड़ियों को जस का तस छोड़ दिया करती है।  अब आप ही बताइए दुर्घटना होने के बाद अगर उन गाड़ियों को रास्ते पर ही छोड़ दिया जाएगा तो इस तरह की घटनाएं घटनी लाजमी है।

इतना संवेदनहीन क्यों ?

 आखिर कितनी घटनाओं के बाद भी हमारी सरकार या प्रशासन  क्यों नहीं कुछ कर रही। उस रास्ते पर आने जाने वाले लोगों के दिलों में कितना दहशत है उसका बयान कर पाना काफी मुश्किल होगा। उस रास्ते पर आने जाने वाले सारे लोग भयभीत और परेशान है। खैर हमे इस बात का इन्तेजार करना है की प्रशासन की दया दृष्टि उस रास्ते पर कब तक पड़ने वाली है ?

अगर हालात ऐसे ही बनी रहे तो आपको खबरों में इस तरह की घटनाएं अक्सर सुनने को मिलती रहेंगी।

वैसे आपको क्या लगता है हालात सुधरेंगे या नहीं ?  आपके जवाब कमेंट में दें ....

No comments:

Post a Comment

Like Us

Ads

Post Bottom Ad


 Advertise With Us