उनका टिकट फाइनल हो गया क्या ? - Rashtra Samarpan News and Views Portal

Breaking News

Home Top Ad


 Advertise With Us

Post Top Ad


Subscribe Us

Friday, November 15, 2019

उनका टिकट फाइनल हो गया क्या ?

--रितेश कश्यप

झारखंड विधानसभा चुनाव की घोषणा होते ही पूरे झारखंड में आचार संहिता लागू हो गई। सभी दलों ने अपने-अपने प्रत्याशी की घोषणा शुरू कर दी अभी कुछ दलों के प्रत्याशियों की घोषणा होना बाकी है। झारखंड में इस बार के विधानसभा चुनाव रोमांचक होने के आसार नजर आ रहे हैं।

इस बार के चुनाव में जितना संशय चुनावी दलों में दिखाई दे रहा है उतना ही संशय आम वोटरों में भी दिखाई दे रहा है। राजनीतिक दलों के साथ-साथ जनता भी तय नहीं कर पा रही की वोट पक्ष को देना है या विपक्ष को और उसका कारण यह है की जो विपक्ष के नेता थे वह पक्ष में बैठ गए और जो पक्ष के नेता थे वह विपक्ष में चले गए।

ऐसी ही हालत कुछ रामगढ़ विधानसभा की भी दिखाई दे रही है। रामगढ़ के सभी नेता एवं कार्यकर्ता रांची से लेकर दिल्ली तक अपनी दौड़ लगा रहा है फिर वह चाहे कांग्रेस के नेता हो या फिर भाजपा के।
भाजपा की तो स्थिति अब तक स्पष्ट नहीं हो सकी है क्योंकि भाजपा की एक साथी भाजपा को ही आंखे तरेर रहा है।

अफवाहों से बाजार पटा हुआ है हर दिन एक नई नई अफवाहें उड़ाई जा रही है और लोग इन अफवाहों का चर्चा हर चौक चौराहों पर कर रहे हैं।
भाजपा और आजसू के कार्यकर्ता यह कतई नहीं चाहते कि गठबंधन हो मगर झारखंड भाजपा एवं केंद्रीय नेतृत्व गठबंधन के पक्ष में शुरू से रही है।

विगत 6 महीनों से यह अफवाह चल रही थी कि अगर गठबंधन नहीं होता है तो एनडीए के कोटे से बने गिरिडीह सांसद चंद्र प्रकाश चौधरी की पत्नी सुनीता चौधरी भाजपा में शामिल होकर रामगढ़ से भाजपा की उम्मीदवार बन जाएंगी। उसके बाद नहीं अफवाहों का दौर शुरू हुआ जिसमें भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का नाम चर्चाओं में शामिल हो गया।

अंततः बाल दिवस गुरुवार के दिन भाजपा ने तीसरी सूची जारी कर दी जिसमें अभी भी 13 सीटों पर विकल्प खुला छोड़ दिया। एक निजी टीवी चैनल से झारखंड चुनाव प्रभारी ओम माथुर ने बात कर बताया कि अभी भी 9 सीटों की घोषणा नहीं हुई है इसके राजनीतिक मायने क्या हो सकते हैं हर कोई समझ सकता है।

रामगढ़ भाजपा के सभी नेता झारखंड भाजपा के प्रदेश कार्यालय में अपना जमघट लगाए हुए हैं और अपने नाम की टिकट ले कर ही लौटेंगे।

खैर ये देखना दिलचस्प होगा कि अभी भी भाजपा के 9 सीटों के खुले विकल्प का क्या मतलब निकाला जा सकता है, और अगर कोई विकल्प नही निकलता है तो रामगढ से टिकट की दौड़ में शामिल 1.5 दर्जन नामों में से किसकी किस्मत का पिटारा खुलता है।

सुलगते सवाल


  • रामगढ़ भाजपा में टिकट की घोषणा किसी भाजपाई की होगी या फिर बाहर से किसी नए कैंडिडेट को रामगढ़ से उतारा जाएगा ? 
  • क्या अभी भी गठबंधन की गुंजाइश बाकी है ? 
  • क्या चंद्र प्रकाश चौधरी की पत्नी सुनीता चौधरी भाजपा में शामिल हो सकती है?

No comments:

Post a Comment

Like Us

Ads

Post Bottom Ad


 Advertise With Us