रामगढ़ पुलिस ने सुलझाई मोती लाल हत्याकांड की गुत्थी - Rashtra Samarpan News and Views Portal

Breaking News

Home Top Ad


 Advertise With Us

Post Top Ad


Subscribe Us

Tuesday, July 30, 2019

रामगढ़ पुलिस ने सुलझाई मोती लाल हत्याकांड की गुत्थी




रिपोर्ट : रितेश कश्यप

रामगढ़। पुलिस अधीक्षक प्रभात कुमार के कार्यालय में प्रेस वार्ता की गई जिसमें बताया गया कि एक माह पूर्व कुज्जू ओपी क्षेत्र में एक प्लंबर की हत्या की गई थी जिसके तहत दो लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। प्रेस वार्ता के दौरान पुलिस अनुमंडल पदाधिकारी राधा प्रेम किशोर भी मौजूद रहे।

मोतीलाल की धमकी ने ही ले ली मोतीलाल की जान 

बड़की डुंडी टोला लोगसिंगना निवासी मोतीलाल जो प्लम्बर का काम करता था उसका विवाद उसके गांव के विनोद महतो के साथ चल रहा था जिसमें मोतीलाल ने विनोद को जान से मारने की धमकी दी थी।
इस धमकी को विनोद ने सच मान लिया और मोती लाल की हत्या की साजिश रच कर उसकी हत्या करवा दी गई। पुलिस ने साजिश रचने वाले विनोद महतो और गोली मारने वाले जयप्रकाश साहू उर्फ चरका को गिरफ्तार कर लिया है जबकि एक और अपराधी वीरेंद्र महतो जिसके साथ विनोद ने मोतीलाल की हत्या की योजना बनाई थी वह फरार चल रहा है।

डेढ़ लाख रुपए की सुपारी दी गई थी मोतीलाल की हत्या के लिए

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि विनोद को लगा कि दोनों के बीच की लड़ाई की वजह से मोतीलाल विनोद को मार सकता है। उसके बाद विनोद ने मांझी थाने के चेतन बारी गांव से अपने चचेरे साडू वीरेंद्र महतो को बुलाकर हत्या की योजना बनाई। इस हत्या के लिए 1.5 लाख रुपए की सुपारी भी दी गई थी।

नल ठीक करने के बहाने बुलाया कर दी हत्या

जयप्रकाश साहू जो ओरमांझी थाना क्षेत्र के पांचा गांव का निवासी है उसे वीरेंद्र महतो ने मोतीलाल की हत्या के लिए तैयार किया। वीरेंद्र ने 19 जून को मोतीलाल महतो को अपने घर का नल ठीक करने के बहाने बुलाया था। मोतीलाल को जिस स्थान पर बुलाया गया था वह वहां अपने एक साथी के साथ पहुंचा और वापस वीरेंद्र को फोन लगाकर बताया कि वह पहुंच चुका है। उसके बाद योजना के अनुसार वीरेंद्र और जयप्रकाश दोनों बाइक से निकले और मोती लाल को गोली मारकर वहां से भाग निकले।

वीरेंद्र अब भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर

जिस दिन से यह घटना घटी थी पुलिस पुलिस ने छानबीन करना शुरू कर दिया था इसी दौरान सबसे पहले विनोद पुलिस के हत्थे चढ़ा उसके बाद जयप्रकाश साहू को पुलिस ने गिरफ्तार किया। वीरेंद्र महतो अभी भी फरार है जबकि हत्या में उपयोग में लाए गए हथियार एवं बाइक अब तक बरामद नहीं हो सकी है।

No comments:

Post a Comment

Like Us

Ads

Post Bottom Ad


 Advertise With Us