भुरकुंडा और पतरातू क्षेत्र में सोशल मिडिया के जरिये शांति भंग करने का प्रयास, प्रसाशन मौन - Rashtra Samarpan News and Views Portal

Breaking News

Home Top Ad


 Advertise With Us

Post Top Ad


Subscribe Us

Monday, May 27, 2019

भुरकुंडा और पतरातू क्षेत्र में सोशल मिडिया के जरिये शांति भंग करने का प्रयास, प्रसाशन मौन



कुछ अराजक तत्वों के वजह से अक्सर बड़ी बड़ी दुर्घटनाएं घट जाती हैं अगर समय पर उन अराजक तत्वों पर कार्रवाई नहीं की जाती है तो उसका परिणाम समस्त समाज को झेलना पड़ जाता है । ऐसी ही घटना भुरकुंडा और पतरातू थाना के अंतर्गत देखा गया जहां अलग-अलग जगहों पर दो लोगों ने सोशल मीडिया के माध्यम से समाज को भटकाने का और समाज के बीच में वैमनस्य पैदा करने का मामला प्रकाश में आया है।


भुरकुंडा थाना का मामला 

 हिंदू जागरण मंच के अध्यक्ष शंकर यादव ने रविवार को भुरकुंडा ओपी प्रभारी को पत्र लिखकर व्हाट्सएप ग्रुप में हिंदुओं को अपमानित करने से संबंधित पोस्ट डालने पर कार्रवाई की मांग की है। पत्र में कहा गया है कि पटेल नगर भुरकुंडा में एक व्हाट्सएप ग्रुप चल रहा है जिसमें करमाली टोला निवासी शशि कुमार द्वारा हिंदुओं के संबंध में अपमानजनक पोस्ट किया गया है। साथ ही यह बताया गया कि हिंदुओं के संबंध में शशि के द्वारा अन्य कई व्हाट्सएप ग्रुप में भी इस तरह का कार्य काफी समय से किया जा रहा है। पत्र के माध्यम से हिंदू जागरण मंच ने पुलिस प्रशासन से कार्यवाई की मांग की। जहां तक पता चला है  की भुरकुंडा थाना में व्हाट्सएप पर चल रहे हिंदुओं के खिलाफ आपत्तिजनक पोस्ट पर शिकायत दी गई थी वह अब तक दर्ज नहीं की गई है।

पतरातू थाना का मामला 

फेसबुक पर आपत्तिजनक पोस्ट करने के विरोध में पतरातू बाजार के सागर कुमार ने पतरातू थाना में आवेदन दिया है कि पतरातू क्षेत्र के फोनिक्स पब्लिक स्कूल के प्रिंसिपल मोहम्मद असद अपने फेसबुक के माध्यम से एक समाज के अलावा भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर आपत्तिजनक टिप्पणी की है। साथ ही शिकायत में यह बात की गई की इस पोस्ट के कारण क्षेत्र में तनाव की स्थिति उत्पन्न हो गई है। आवेदन करने वाले सागर कुमार ने इस मामले की जांच कर कार्यवाही करने की मांग की है।

क्या कहते हैं पत्रकार ? 

इस बाबत भुरकुंडा के पत्रकार राजेश सोनी से बात करने पर उन्होंने बताया कि इस तरह के कई मामलों में देखा गया है कि भुरकुंडा थाना प्रभारी आवेदकों को रिसीविंग भी नहीं देते और मामले को रफा-दफा करने की बात किया करते हैं।

क्या कहते हैं हिन्दू जागरण मंच के अधिकारी ? 

हिंदू जागरण मंच के अधिकारियों से बात करने के बाद पता चला कि पहले भी इस तरह के पोस्ट किए जा चुके हैं और इस बात की जानकारी पुलिस अधिकारियों को दी गई थी। उसके बावजूद प्रशासन की ओर से कोई उचित कार्रवाई नहीं की गई। साथ ही यह भी बताया की प्रशाशन के द्वारा कार्यवाई तो तब की जाएगी जब उनके द्वारा कोई आवेदन स्वीकार किया जायेगा यहाँ तो आवेदन तक स्वीकार नहीं किया जाता ।

पतरातू के पुलिस अनुमंडल पदाधिकारी प्रकाश महतो से बातचीत पर उन्होंने बताया कि उन्हें इस मामले की जानकारी नहीं है जानकारी मिलते ही इस विषय पर उन्होंने संज्ञान लेने की बात कही ।

इस बाबत भुरकुंडा थाना प्रभारी से भी बात करने की कोशिश की गयी मगर उनसे बात नहीं हो पाई ।

अब सवाल यह उठता है कि प्रशासन की नींद कब टूटेगी और भविष्य में ऐसी घटना ना घटे उसके लिए प्रशासन क्या करेगी?

No comments:

Post a Comment

Like Us

Ads

Post Bottom Ad


 Advertise With Us