बचपन प्ले स्कूल रामगढ के लिये एक वरदान है : उर्मिला सिंह - Rashtra Samarpan News and Views Portal

Breaking News

Home Top Ad


 Advertise With Us

Post Top Ad


Subscribe Us

Saturday, February 16, 2019

बचपन प्ले स्कूल रामगढ के लिये एक वरदान है : उर्मिला सिंह

शुक्रवार को कान्केबार स्थित बचपन विद्यालय मे पंचम वार्षिक उत्सव का आयोजन किया गया । आयोजन की मुख्य अतिथी उर्मिला सिंह क्षेत्रीय निदेशिका सह प्राचार्या डी ए वी बरकाना थी ।

पुल्वामा मे हुआ आतंकी घटना की निन्दा करते हुए उपस्थित सभी लोगों ने कार्यक्रम के शुरुआत से पहले उन शहीदों को 2 मिनट का मौन रख श्रधान्जली समर्पित किया गया ।
मुख्य अतिथि ने अपने सम्बोधन मे कहा की बचपन रामगढ के लिये एक वरदान है। यह बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिये हर सार्थक प्रयास कर रहा है । उन्होने उपस्थित माता पिता से कहा की विद्यालय के साथ उनका प्रयास भी बच्चों के विकास के लिये आवश्यक है। बच्चों के साथ व्यतीत किया गया समय काफी महत्वपूर्ण होती है मोबाइल से थोडा समय निकाल अपने बच्चों के साथ समय जरुर बिताएं। मौके पर बच्चों ने कई प्रकार के रंगा रंग सांस्कृतीक कार्यक्रम योगा, नाटक मंचन एवं मनोहक नृत्य इत्यादी प्रस्तुत कर आगंतुकों का मन मोह लिया। कार्यक्रम का संचालन हरप्रीत कौर एवं जॉली सिन्हा ने किया धन्यवाद ज्ञापित करते हुए निदेशक मनोज मंडल ने बताया की विद्यालय कैसे प्रतिबद्ध है बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिये। स्कूल एक ऐसी संस्था है जो समाज के हर वर्ग की पहली जरुरत है क्यूँकी शिक्षा के बिना हम लगभग आदी मानव के समान हैं।
शिक्षा ही है जो हमे एक विशिष्ट पहचान दिलाती है।
स्वतंत्र भारत का पहला सपना और ध्येय शिक्षित संपन्न भारत था और हम इस सपने को साकार करने के लिये संकल्पित और प्रयासरत हैं । एक माता पिता के तौर पर हम अपने बच्चों का रंग रूप, उनकी रूचि को नही चुन सकते लेकिन उनके उज्जवल भविष्य के लिये प्रयास कर सकते हैं और हर माँ बाप अपने स्तर पर यह प्रयास करता ही है। इसी क्रम को आगे बढ़ाने के उद्देश्य के साथ ही हमने इस विद्यालय की स्थापना की। बचपन विद्यालय विगत पांच वर्षों से शिक्षा के क्षेत्र में रौशनी फैलाने का कार्य कर रहा है ।श्री मंडल ने कहा कि हमारी आने वाली पीढ़ियों को सफलता की ओर बढने के लिए प्रेरित कर रहे हैं और करते रहेंगें।
उन्होंने बताया कि विद्यालय आधुनिकतम वैज्ञानिक सुविधाओं एवं तकनीकों से परिपूर्ण है। शिक्षिकाएँ दक्ष, प्रशिक्षित एवं अपने अपने विषयों मे पारंगत हैं । किताबी ज्ञान के साथ साथ बच्चों मे सांस्कृतिक, अपनी परंपरा , खेल-कूद , एवं अन्य विधाओं मे आगे बढाने के लिये कई प्रकार की प्रतियोगिताओं का आयोजन करना हमारे पाठयक्रम का अहम हिस्सा है जो हमारी अनुभवी टीम ने कई रिसर्च के बाद तैयार किया है।
इस मौके पर सभी शिक्षक एवं शिक्षकेत्तर कर्मचारी, अभिभावक सहित नगर के कई गण मान्य व्यक्ति उपस्तिथ रहे।

No comments:

Post a Comment

Like Us

Ads

Post Bottom Ad


 Advertise With Us