गठबंधन की राजनीति की वजह से झारखंड को काफी नुकसान हुआ: रघुवर दास - Rashtra Samarpan News and Views Portal

Breaking News

Home Top Ad


 Advertise With Us

Post Top Ad


Subscribe Us

Sunday, December 9, 2018

गठबंधन की राजनीति की वजह से झारखंड को काफी नुकसान हुआ: रघुवर दास


  • मुख्यमंत्री पाकुड़ के पंचायत सोनाजोरी, ग्राम समरेशा में आयोजित जन चौपाल में ग्रामीणों से रूबरू हुए।




झारखंड/पाकुड़। शनिवार को मुख्यमंत्री पाकुड़ के पंचायत सोनाजोरी के समशेरा में आयोजित जन चौपाल मे मुख्यमंत्री ने कहा वो पाकुड़ में संबोधन करने नहीं बल्कि संवाद के लिए आए हैं। उन्होंने कहा 28 दिसंबर 2018 को राज्य सरकार के 4 साल पूरे हो रहें हैं। अब यह उनकी जिम्मेदारी है कि जनता को 4 साल के कार्यों की जानकारी दें ताकि 2018-19 के बजट में संथाल के लिए जनता की जरूरत के अनुरूप विकास कार्य सुनिश्चित किया जा सके। संथाल परगना को मिलने वाले बजट के अलावा सरकार संथाल को 50 करोड़ का अतिरिक्त बजट देने का भरोसा जताया। संथाल परगना पिछड़ा है और संथाल परगना में भी पिछड़ा जिला है पाकुड़। मुख्यमंत्री ने गठबंधन की राजनीति को लेकर कहा झारखंड में 14 वर्ष तक गठबंधन की राजनीति चली, नेता मालामाल हुए और राज्य की जनता पीछे रह गई।


  • संथाल परगना से हटाना है भष्टाचार



मुख्यमंत्री ने कहा कि संथाल परगना और झारखण्ड की जनता का रहनुमा बताने वालों ने वोट की खेती की और जनता को पीछे छोड़ दिया। वर्तमान सरकार के गठन से पूर्व यह बताया गया कि हमारी सरकार बनने पर वह सभी गरीबों और आदिवासियों का जमीन लूट लेगी। लेकिन क्या 4 साल में किसी गरीब, आदिवासी या किसी अन्य की जमीन लूटी गई। नहीं लूटी गई। लेकिन वे लोग जो बात यह कह रहे थे उन्होंने ही CNT/SPT एक्ट का उल्लंघन कर गरीब आदिवासी की जमीन खरीद ली और संथाल में बिचौलियों और भ्रष्टाचार को हावी कर दिया। संथाल परगना के लोगों को यह बात समझनी होगी। सभी को मिलकर संथाल परगना और झारखण्ड को बदलना है। हम जातिवाद, सम्प्रदायवाद, विभाजन की राजनीति नहीं करते हैं। राज्य का अंतिम व्यक्ति विकास से आच्छादित हो यह लक्ष्य लेकर सरकार कार्य कर रही है।


  • जन कल्याणकारी योजना का लाभ देना सरकार का लक्ष्य, हम बढ़े शौचालय से स्वच्छता की ओर



मुख्यमंत्री से जन चौपाल में शायमा खातून की बात पर मुख्यमंत्री ने कहा कि पाकुड़ विधानसभा क्षेत्र में 1 लाख 6 हजार परिवार को उज्ज्वला योजना का लाभ देना है। उस दिशा में 35, 787 परिवार को योजना का लाभ अबतक मिला है। राज्य भर के 32 लाख परिवारों को योजना का लाभ देना है। झारखण्ड ऐसा पहला राज्य है जो गैस सिलेंडर के साथ चूल्हा भी प्रदान कर रहा है। आपको भी योजना का लाभ मिलेगा। साथ ही पाकुड़ में 40, 451 शौचालय का निर्माण हुआ है। 2014 में मात्र 18% झारखण्ड खुले में शौच से मुक्त था। राज्य की 7 हजार रानी मिस्त्री, जल साहिया व अन्य के सहयोग से शौचालय से स्वच्छता की ओर बढ़ते हुए 4 साल में 99% झारखण्ड को खुले में शौच से मुक्त कर दिया गया। श्री दास ने कहा कि योजना का लाभ सभी को मिलेगा। उन्होंने उपायुक्त पाकुड़ के शहरी क्षेत्र में भाड़े के घर में निवास कर रहे गरीब परिवारों को चिन्हित कर प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ देने का निदेश दिया। आयुष्मान भारत योजना के तहत राज्य में अबतक 13 हजार लोगों का इलाज हुआ है। राशनकार्ड धारी कोई भी परिवार योजना का लाभ ले सकता है। राज्य सरकार ने 85 % आबादी को इस योजना से आच्छादित किया है।


  • 14 साल तक आदिवासी युवक युवतियों के भविष्य से खिलवाड़ हुआ, हमने 1 लाख को रोजगार दिया



मुख्यमंत्री ने कहा कि 14 सालों तक संथाल में आदिवासी युवक युवतियों के भविष्य की अनदेखी की गई। यह सब हुआ स्थानीय नीति परिभाषित नहीं करने की वजह से। वर्तमान सरकार ने 4 साल के कार्यकाल में स्थानीय नीति को परिभाषित किया। राज्य के 95% युवाओं को नौकरी दी गई। 4 साल में सरकार ने 1 लाख लोगों को रोजगार से आच्छादित किया गया है। आनेवाले दिनों में 1 लाख अन्य युवाओं को रोजगार किया जाएगा। दिव्यांग युवाओं के लिए 5% आरक्षण का प्रावधान किया गया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आजादी के बाद से राज्य के 32 हजार गांव में बिजली नहीं थी। विगत 4 साल में 32 हजार गांव में बिजली पहुंचाने का कार्य हुआ है। 28 दिसंबर 2018 तक राज्य के सभी घरों को बिजली से आच्छादित कर दिया जाएगा। साथ ही ऐसे घर या गांव जो सुदूरवर्ती क्षेत्र या पहाड़ों पर हैं वैसे घरों को सोलर पावर से रोशन किया जाएगा। बिजली व्यवस्था में सुधार हेतु आजादी के बाद जरूरत के अनुरूप कार्य नहीं हुए। 2018 तक सभी घरों में बिजली और मई 2019 तक 24 घंटे बिजली सरकार उपलब्ध कराएगी। संथाल के सुदूरवर्ती पहाड़ों में निवास करने वाले लोगों तक सोलर पावर से बिजली पहुँचा दी जाएगी।


  • महिला सशक्तिकरण जरूरी, झारखण्ड को बदलने की वाहक बनेंगी महिलाएं



रघुवर दास ने कहा कि राज्य की नारी शक्ति को नमन। सरकार उनके स्वावलंबन और आर्थिक सशक्तिकरण की दिशा में कार्य कर रही है। सखी मंडल, आजीविका मिशन के में माध्यम से उन्हें सशक्त किया जा रहा है। राज्य की महिलाओं को 90% अनुदान पर 2 गाय उपलब्ध कराया जा रहा है।


  • राज्य की किसानों ने किया अपनी क्षमता का प्रदर्शन, बहुफसलीय खेती पर ध्यान दें किसान



मुख्यमंत्री ने कहा पिछले माह हुए वैश्विक कृषि और फूड समिट में विदेशों से आये कृषि वैज्ञानिकों ने भी कहा कि राज्य के किसानों में गजब का उत्साह है। श्री दास ने बताया कि किसी ने झारखण्ड के किसानों को उन्नत कृषि की जानकारी लेने विदेश नहीं भेजा था लेकिन वर्तमान सरकारं ने राज्य के 52 किसानों को इजराइल भेजा। सभी किसान वहां की आधुनिक और कम संसाधन में की जा रही खेती से अवगत हो कर लौटे हैं। अब ये 52 किसान मास्टर ट्रेनर के रूप अन्य किसानों को वहां की जा रही बूंद बूंद सिंचाई व वैज्ञानिक पद्धति से हो रही कृषि की जानकारी देंगे। मुख्यमंत्री ने किसानों से अनुरोध किया कि किसान अब जैविक कृषि को प्राथमिकता दें। क्योंकि बाजार में जैविक उत्पाद की मांग है। राज्य सरकार भी हर जिले में आर्गेनिक क्लस्टर का निर्माण करेगी। सरकार की योजना है कि आने वाले दिनों में 50 माहिला और 50 पुरूष किसान को इजरायल और फिलीपींस भेजा जाएगा। आप सभी किसान बहुफसलीय खेती की ओर अग्रसर हों।


  • दुग्ध उत्पादन में आगे आएं युवा, शहद उत्पादन में भी है संभावना



मुख्यमंत्री ने कहा कि मत्स्य उत्पादन में राज्य आत्मनिर्भर हो चुका है। अब दूध उत्पादन में क्रांति लानी है। आपको जानकर हैरानी होगी कि झारखण्ड में करीब 13 हजार करोड़ के दूध अन्य राज्यों से आता है। अगर यह 13 हजार करोड़ राज्य में रह जाये तो लोगों की आर्थिक संपन्नता को कोई रोक नहीं सकता। युवा वर्ग अब नौकरी मांगने वाले नहीं बल्कि देने वाले बनें। सरकार 50% अनुदान पर गाय उपलब्ध कराएगी। साथ ही सखी मंडल भी गाय पालन करे। श्री रघुवर दास ने बताया कि वैश्विक कृषि और फूड समिट के दौरान पतंजलि योगपीठ के बाबा रामदेव ने झारखण्ड में उत्पादित हो रहे शहद की गुणवत्ता को सराहा था। जल्द राज्य सरकार पतंजलि के साथ MoU कर शहद प्रसंस्करण यूनिट की स्थापना करेगी। किसानों को शहद उत्पादन हेतु बक्शा उपलब्ध कराया जाएगा। जल्द चीन के साथ समझौता कर राज्य की भिंडी को निर्यात किया जाएगा।


  • राष्ट्रविरोधी शक्तियों को कुचल दिया जाएगा



मुख्यमंत्री ने कहा कि हम सभी अपने अपने आस्था को राजनीति से दूर रखें। सरकार परिवार, समाज, राज्य में शांति के लिए सभी को समान सुविधा से आच्छादित कर रही है। बगैर भेदभाव के योजनाओं का लाभ दिया जा रहा है। अगर हम मनमुटाव की राजनीति करेंगे तो विकास नहीं होगा। शांति, भाई चारा के साथ रहकर हम विकास का परचम लहरायेंगे। कोई राष्ट्रविरोधी शक्ति शांतिभंग करने का प्रयास नहीं करें। ऎसी शक्तियों पर सरकार की नजर है उसे कुचल दिया जाएगा।


  • 24 घंटा माँ बहन बेख़ौफ़ घूमे ऐसी व्यवस्था करनी है



मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य की बहनें 24 घंटे बिना डरे घूम सके ऐसी व्यवस्था सरकार देने का प्रयास हो रहा है। उग्रवाद अंतिम सांस गिन रहा है। राज्य के पुलिस कर्मियों ने बेहतर कार्य किया है। उग्रवाद के नाम पर भटके हुए युवा मुख्यधारा से जुड़ कर राज्य का विकास में भागीदारी निभाएं।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने जोहार योजना के तहत बकरी पालन योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना, उज्ज्वला योजना, सखी मंडल की महिलाओं को स्वरोजगार हेतु अनुमोदन पत्र, मत्स्य मित्रों को दो पहिया वाहन के लिए 30 हाजर रुपये समेत अन्य जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ देकर लाभान्वित किया।

इस मौके पर राजमहल विधायक श्री अनंत ओझा, पूर्व मंत्री श्री हेमलाल मुर्मू, उपायुक्त पाकुड़ समेत अन्य मौजूद थे।

No comments:

Post a Comment

Like Us

Ads

Post Bottom Ad


 Advertise With Us